“K” अक्षर, 11 of 26

“जिन जातकों का नाम ‘के’ अक्षर से आरंभ होता है उनका अधिकतर जीवन संघर्ष में ही बीत जाता है। इन्हें छोटी—छोटी चीजों के लिए लंबा इंतजार करना पड़ता। ऐसे लोग एक जगह व एक स्थिति में ज्यादा देर तक टिककर नहीं बैठ सकते। इन्हें दूसरों पर न तो विश्वास करना आता है न ही विश्वास जीतना।

इस अक्षर वाला व्यक्ति बेहद ही दिखावे वाला होता है। किसी को कुछ भी कह देना इनके स्वभाव में शामिल होता है। बिना कुछ सोचे समझे ये किसी को भी कुछ सुना देते है जिसकी वजह से इन्हें लोग मुंहफट कहते हैं|

इस नाम के व्यक्ति अपने फायदे के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। के अक्षर वाले पैसा तो बहुत कमाते हैं, लेकिन इन्हें इज्जत से कुछ लेना-देना नहीं होता है।

जहां तक वैवाहिक संबधों का सवाल है तो ये ससुराल पक्ष पर भी अपना रुतबा कायम रखते हैं| लोग इनसे डरते हैं। इनके सामने अपनी बात कहने में हिचकते हैं।

“के” अक्षर वाले सेक्स लाईफ को भी ये ज्यादा तवज्जों नहीं देते है और ज्यादातर ये लोग अरेंज मैरिज ही करते हैं| इनका वैवाहिक जीवन समझौतों पर ही निर्भर होता है।
ऐसे व्यक्ति का मस्तिष्क उर्वरक होता है पर इनका जीवन काफी संघर्षमय होता है। ऐसे व्यक्ति प्रत्येक वस्तु को संदेह व शंका की दृष्टि से देखते हैं। हंसमुख एवं मिलनसारिता इनके जीवन के प्रमुख अंग हैं।

इनकी लापरवाही ही इनके लिए मुसीबत बन जाती है इन्हें चाहिए कि जीवन को संजीदगी से लें तथा भीतर स्थिरता पैदा करें। इनके जीवन में उत्थान—पतन, उतार—चढ़ाव आते ही रहते हैं।
यह लोग प्राय: दृढ़ विचारों वाले नहीं होते। एक बात के विषय में पक्का विचार करते हैं और फिर उसमें परिवर्तन कर देते हैं और फिर दूसरी कोई नई योजना बनाने लगते हैं। धैर्य और अध्यवसाय की कमी के कारण जिस बात पर विचार करते हैं उसे पूरा नहीं करते।

इनमें आत्म—विश्वास की बड़ी कमी होती है, थोड़ी—सी निराशा से उदासीन हो जाते हैं।

ये प्रत्येक कार्य, बात का नकारात्मक पक्ष देखते हैं और इसीलिए प्राय: निराशावादी हो जाते हैं। जीवन के प्रति इन्हें कोई खास लगाव नहीं होता।”

%d bloggers like this: