day 6

छठा दिन, ► जिम में व्यायाम
उपवास करें खाने-पीने के शौकीन लोग यदि वजन कम करना चाहते हैं तो उनके लिए हफ्ते में एक दिन उपवास राम बाण से साबित होगा। उपवास के दिन आप फलों के साथ नींबू पानी, दूध, जूस और सूप आदि चीजों का प्रयोग करें। आप चाहें तो सलाद भी खा सकते हैं। सलाद शरीर के लिए फायदेमंद होने के साथ ही वजन घटाने में भी कारगर होता है।

► आज का व्यायाम
रस्‍सी कूदिये यदि आपके पास जिम के लिये पैसे नहीं हैं तो घर पर ही रस्‍सी कूदिये। पहले 50 बार कूदिये और बाद में उसे बढा कर 100 कर दीजिये।

► योग
हलासन इस आसन में शरीर का आकार हल जैसा बनता है इसलिए इसको हलासन कहा जाता है। विधि: भूमि पर बिछे हुए आसन पर चित्त होकर लेट जाएं। दोनों हाथ शरीर को लगे रहें। अब रेचक करके श्वास को बाहर निकाल दें। दोनों पैरों को एक साथ धीरे-धीरे ऊंचे करते जाएं। आकाश की ओर पूरे उठाकर फिर पीछे सिर के तरफ झुकाएं। पैर बिल्कुल तने हुए रखकर पंजे ज़मीन पर लगाएं। ठोड़ी छाती से लगी रहे। दो-तीन मिनट से लेकर बीस मिनट तक समय की अवधि बढ़ा सकते हैं।

► डाइट
टमाटर-दही का शेक एक कप टमाटर के जूस में एक कप दही (फैट फ्री), आधा चम्मच नींबू का रस, बारीक कटा अदरक, काली मिर्च व स्वादानुसार नमक मिलाकर ब्लेंड कर लें। रोज एक ग्लास इस शेक को पीने से आपका वजन तेजी से गिरेगा।

► आयुर्वैदिक टिप्स
ग्वार गम ग्वार गम मधुमेह को रोकता है और वजन कम करने में भी मददगार होता है। साथ ही यह आपके पाचन तंत्र को भी बेहतर बनाता है।

► घरेलू उपचार
चावल चावल का गर्म-गर्म मांड लगातार कुछ दिनों तक सेवन करने से मोटापा दूर होता है।

► वजन काम करने वाले भोजन
पेट व कमर कैसे कम करें गलत ढंग से आहार-विहार यानी खान-पान, रहन-सहन से जब शरीर पर चर्बी चढ़ती है तो पेट बाहर निकल आता है, कमर मोटी हो जाती है और कूल्हे भारी हो जाते हैं। इसी अनुपात से हाथ-पैर और गर्दन पर भी मोटापा आने लगता है। जबड़ों के नीचे गरदन मोटी होना और तोंद बढ़ना मोटापे के मोटे लक्षण हैं। मोटापे से जहाँ शरीर भद्दा और बेडौल दिखाई देता है, वहीं स्वास्थ्य से सम्बंधित कुछ व्याधियाँ पैदा हो जाती हैं, लिहाजा मोटापा किसी भी सूरत में अच्छा नहीं होता। बहुत कम स्त्रियाँ मोटापे का शिकार होने से बच पाती हैं। हर समय कुछ न कुछ खाने की शौकीन, मिठाइयाँ, तले पदार्थों का अधिक सेवन करने वाली और शारीरिक परिश्रम न करने वाली स्त्रियों के शरीर पर मोटापा आ जाता है।प्रायः प्रसूति के बाद की असावधानी और गलत आहार-विहार करने से स्त्रियों का पेट बढ़ जाया करता है। प्रसव के बाद 40 दिन तक पेट बाँधकर रखने से पेट बड़ा नहीं हो पाता। पेट बाँधने के बेल्ट बाजार में मिलते हैं। पहली कोशिश तो यही करना चाहिए कि पेट बढ़ने ही न पाए, क्योंकि एक बार पेट बढ़ जाने पर कम करना कठिन और समय साध्य कार्य हो जाता है। इसके लिए दो-तीन बातों का ध्यान रखना जरूरी है। प्रायः महिलाएँ भोजन करके खूब पानी पिया करती हैं। भोजन के अन्त में पानी पीना उचित नहीं, बल्कि एक-डेढ़ घण्टे बाद ही पानी पीना चाहिए। इससे पेट और कमर पर मोटापा नहीं चढ़ता, बल्कि मोटापा हो भी तो कम हो जाता है। • आहार भूख से थोडा कम ही लेना चाहिए। इससे पाचन भी ठीक होता है और पेट बड़ा नहीं होता। पेट में गैस नहीं बने इसका खयाल रखना चाहिए। गैस के तनाव से तनकर पेट बड़ा होने लगता है। दोनो समय शौच के लिए अवश्य जाना चाहिए। • भोजन में शाक-सब्जी, कच्चा सलाद और कच्ची हरी शाक-सब्जी की मात्रा अधिक और चपाती, चावल व आलू की मात्रा कम रखना चाहिए। • सप्ताह में एक दिन उपवास या एक बार भोजन करने के नियम का पालन करना चाहिए। उपवास के दिन सिर्फ फल और दूध का ही सेवन करना चाहिए। • पेट व कमर का आकार कम करने के लिए सुबह उठने के बाद या रात को सोने से पहले नाभि के ऊपर के उदर भाग को ‘बफारे की भाप’ से सेंक करना चाहिए। इस हेतु एक तपेली पानी में एक मुट्ठी अजवायन और एक चम्मच नमक डालकर उबलने रख दें। जब भाप उठने लगे, तब इस पर जाली या आटा छानने की छन्नी रख दें। दो छोटे नैपकिन या कपड़े ठण्डे पानी में गीले कर निचोड़ लें और तह करके एक-एक कर जाली पर रख गरम करें और पेट पर रखकर सेंकें। प्रतिदिन 10 मिनट सेंक करना पर्याप्त है। कुछ दिनो में पेट का आकार घटने लगेगा।

► उच्च कैलोरी भोजन
प्याज भाजी यह एक मसालेदार भारतीय स्नैक है जिस कई प्रकार से तैयार किया जाता है, तथा जिसमें ,आलू के पकौड़े की तरह, कोर होते हैं। यह आमतौर पर विभिन्न भारतीय भोजन पर टॉपिंग के रूप में प्रयोग किया जाता है लेकिन एक नाश्ते के रूप में इसे अकेले खाना लोकप्रिय हो गया है। कैलोरी की मात्रा – प्रति 2-3 पीस में 190 किलो कैलोरी (आकार पर निर्भर करता है)

► आज का टिप्स
अपने एफ्फोर्ट्स में यकीन रखिये किसी भी और चीज से ज्यादा ज़रूरी है कि आप weight loss के लिए जो efforts कर रहे हैं उसमे आपका यकीन होना. यदि आप एक तरफ daily gym जा रहे हैं और दूसरी तरफ दोस्तों से ये कहते फिर रहे हैं कि जिम-विम जाने का कोई फायदा नहीं है तो आपका subconscious mind भी इसी बात को मानेगा, और सच-मुच आपको अपने एफ्फोर्ट्स का कोई रिजल्ट नहीं मिलेगा. खुद से positive-talk करना बहुत ज़रूरी है. आप खुद से कहिये कि, ” मैं फिट हो रहा हूँ”, ” मुझे results मिल रहे हैं” , आदि.

► एरोबिक व्यायाम
पैडो‍मीटर का प्रयोग करें ये एक ऐसी युक्ति है जो आप के हर कदम को गिनती करता है। इसे अपने बेल्ट में लगा लें और कोशिश करें की हर रोज़ जाये चला हज़ार कदम अतिरिक्त। जिनका वजन अधिक होता है वो आम तौर पर दिन भर में बस दो से तीन हज़ार कदम ही चलते हैं। यदि आप इसमें 2000 कदम और जोड़ दें तो आपका वर्तमान वजन बना रहेगा और उससे ज्यादा चलने पर वज़न कम होगा.एक मानक पैडो‍मीटर की कीमत 1000 1500 से रुपये तक होती है.पैडोमीटर, 6 of, 30

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: