Health tips computer

कंप्यूटर युग में कंप्यूटर का प्रयोग न हो, इसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती। कंप्यूटर तो आज की विशेष जरूरत है। इसके दुष्परिणामों से हम नहीं बच सकते क्योंकि इसका प्रयोग हम लगातार करते रहते हैं। फिर भी कुछ बचाव के लिए टिप्स है जिन्हें हम अपने जीवन में प्रयोग कर उन दुष्परिणों के प्रभाव को कम कर सकते हैं :- • लंबे समय तक कम्प्यूटर पर काम करने वाले अधिकतर कर्मचारी एयर कंडीशन कमरों में बैठते हैं इससे हमारे शरीर की नमी कम होती है। उस नमी को बचा कर रखने के लिये दिन में कम से कम 8 से 10 गिलास पानी अवश्य पीना चाहिये। चाय, काफी, साफ्ट ड्रिंक पानी की कमी को पूरा नहीं करते बल्कि किडनी को इन्हें पचाने के लिए अतिरिक्त परिश्रम करना पड़ता पड़ता है। • अधिक लंबे समय तक मॉनीटर के सामने न बैठें। इससे आंखों में थकान होती है। लटकी टांगों में भी दर्द होता है। लगातार बैठे रहने से कमर में भी दर्द होता है। इससे बचने के लिये हर 30 से 40 मिनट के अंतराल में उठ जायं और आसपास चक्कर लगा लें ताकि आंखों, कमर और टांगों को आराम मिल जाये। • प्रयास करें यदि खिड़की से हरियाली या पानी दिखाई देता हो तो अपना ध्यान वहां लगायें और प्रकृति का आन्द उठाएं। आंखों को अच्छा लगेगा। • कम्प्यूटर पर काम करते समय आंखों को झपकते रहें ताकि लगातार काम से आंखों में अधिक थकान न हो। • अपनी हथेलियों के कम बनायें और अपनी आंखों को इन कप से ढक लें। 20 से 25 बार आंखें खोलें और बंद करें जिससे आप की आंखों रिलैक्स महसूस करेंगी • जब भी आपको आंखों में थकान महसूस हो या सुबह उठते समय अपनी आंखों पर ठंडे पानी के छींटे मारें। इतनी आसान क्रिया से आपकी आंखों की जलन, लाली और एलर्जी ठीक हो जायेगी। • यदि आप ऐनक का प्रयोग करते हैं तो कम से कम दिन में एक बार ऐनक को अवश्य धोएं ताकि उस पर जमी मिट्टी या धूलकण आपकी नजर को प्रभावित न करें।